Shero shayari in hindi | हम जमाने में यूँ ही बेवफ़ा …

हजारों चाहने वाले थे

हम जमाने में यूँ ही बेवफ़ा मशहूर हो गये दोस्त,
हजारों चाहने वाले थे हमारे तो किस किस से वफ़ा करते। Shero shayari in hindi

Hum jamanay Main Yun Hi Bewafa Mashhnur Ho Gaye he Dost
Hajaron Chahne Wale Thay Kis Kis Say Wafa Kartay.

Shero shayari in hindi

जिस नजर से आपको हमारी Shero shayari in hindi

खुद को ही खुद की खबर न लगे
कोई अच्छा भी इस कदर न लगे,
आपको देखा है ऐसी नजर से,
जिस नजर से आपको हमारी भी नजर न लगे

khud ko hee khud kee khabar na lage
koee achchha bhee is kadar na lage,
aapako dekha hai aisee najar se,
jis najar se aapako hamaaree bhee najar na lage

Shero shayari in hindi

जिन्दा रहने के लिए Shero shayari in hindi

नदी को तुम सागर से मिलने से ना रोको
बारिस की बूंदों को तुम धरती से मिलने से ना रोको
जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना बेहद जरुरी है
इसलिए मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको

Nadee ko tum saagar se milane se na roko
baaris kee boondon ko tum dharatee se milane se na roko
jinda rahane ke lie tumako dekhana behad jaruree hai
isalie mujhe tumhaara deedaar karane se na roko

Shero shayari in hindi

ज़ालिम अपनी नज़र तो उठा

यूँ नज़रें वो धरती पर नीचे किए चले जा रहें हैं,
पास आशिक़ खड़े यूँ परेशाँ से हुए जा रहें हैं,
कोई कहता है हे ज़ालिम अपनी नज़र तो उठा,
हम तेरे चेहरे का दीदार करने मरे जा रहें हैं

yoon nazaren vo dharatee par neeche kie chale ja rahen hain,
paas aashiq khade yoon pareshaan se hue ja rahen hain,
koee kahata hai he zaalim apanee nazar to utha,
ham tere chehare ka deedaar karane mare ja rahen hain

Shero shayari in hindi

निगाह उठाकर जब देखती हैं वो Shero shayari in hindi

मुझे सकून मिलता है जब उनसे बात होती है हज़ार रातों में वो एक रात होती है,
निगाह उठाकर जब देखती हैं वो जब मेरी तरफ, मेरे लिए तो वो ही पल पूरी कायनात होती है ।

mujhe sakoon milata hai jab unase baat hotee hai hazaar raaton mein vo ek raat hotee hai,
nigaah uthaakar jab dekhatee hain vo jab meree taraph, mere lie to vo hee pal pooree kaayanaat hotee hai.

Shero shayari in hindi

क्या कहें इस ज़ालिम दिल को

उनके दीदार के जब दिल तड़पता है, उनके इंतजार में दिल तरसता है,
क्या कहें इस ज़ालिम दिल को अपना हो कर भी किसी और के लिए धड़कता है।

unake deedaar ke jab dil tadapata hai, unake intajaar mein dil tarasata hai,
kya kahen is zaalim dil ko apana ho kar bhee kisee aur ke lie dhadakata hai.

किया था उस पर भरोसा क्यों हद से बढ़ कर

एक बेवफा को हम ने इस दिल मैं जगा दी थी
खवाबों की दुनिया अपनी उस से ही सजा दी थी
चाहा था उस को हम ने खुद से भी बोहत बढ़ कर
उस चाहत मैं हम ने ये हस्ती ही मिटा दी थी
मालूम नहीं था हम को वो बेवफा भी होगा उस पैर भरोसा करके
खुद को ही सजा दी थी
सोचा था साथ मिल के काटेंगे ज़िन्दगी को
उस ने तो एक पल मैं हर बात भुला दी थी
कैसा सितम है देखो वो कब से जुड़ा है मुझ से
अपनी ज़िन्दगी जी का साया सा बना दी थी
किया था उस पर भरोसा क्यों हद से बढ़ कर
उस की जफ़ा ने दिल मैं एक हलचल सी मचा दी थी

ek bevapha ko ham ne is dil main jaga dee thee
khavaabon kee duniya apanee us se hee saja dee thee
chaaha tha us ko ham ne khud se bhee bohat badh kar
us chaahat main ham ne ye hastee hee mita dee thee
maaloom nahin tha ham ko vo bevapha bhee hoga us pair bharosa karake
khud ko hee saja dee thee
socha tha saath mil ke kaatenge zindagee ko
us ne to ek pal main har baat bhula dee thee
kaisa sitam hai dekho vo kab se juda hai mujh se
apanee zindagee jee ka saaya sa bana dee thee
kiya tha us pair bharosa kyon had se badh kar
us kee jafa ne dil main ek halachal see macha dee thee

Sharabi Jokes in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *